धोखेबाज Girlfriends को भी जेल पहुँचा सकते है। || Best 2021
Like and Share
धोखेबाज Girlfriends को भी जेल पहुँचा सकते है। || Best 2021
1,232 Views

 धोखेबाज Girlfriends – प्रेमिका गर्लफ्रैंड ( Love ) में धोखा दे चुकी है आप कानून की { 8 } धाराओं में सजा दिलवा सकते है।धोखेबाज गर्लफ्रैंड को पहुँचा सकते है हवालात में।

धोखेबाज Girlfriends – आपने बहुत प्रकार से देखा व सुना होगा लड़कियों द्वारा लड़को पर धोखेबाजी व छेड़कानी , पीछा करना  (Section – 354 से लेकर 354 D ) की धाराओं में झुठे आरोपों में मुक़दमे और शादी का वादा कर गलत करने का केस मिलगे।

But गलत काम लड़को के साथ भी होता है शोषण उनका भी होता है। हमारे समाज की विचारधारा लड़कियों का पक्ष अधिक लेती है उन सभी लड़को का विचार नहीं किया जाता जिनके साथ जालसाजी होती है।

हम यह नहीं कह रहे की सभी लड़के निर्दोष है परन्तु लड़के / लड़कियाँ सबकी मन की इच्छा होती है जिसके कारण अच्छे / बुरे का विचार नहीं करते है।

Example – आपने अक्षय कुमार और प्रियका चोपड़ा अभिनय ( ऐतराज Move ) देखी होगी प्रियंका चोपड़ा किस प्रकार गलत काम करती है।

धोखेबाज Girlfriends ( images )

धोखेबाज Girlfriends को हम दो स्थिति में रखते है।

( 1 ) पहली स्थिति में वह लड़कियाँ आती है जो लीव इन रेलशनशिप ( Leave in relation ) में रहती है।

( 2 ) दूसरी स्थिति में वह लड़कियाँ आती है। वह ( simple ) प्रकार से मिलती – जुलती है।

महिलाओ को भारतीय कानून में अधिक सुविधा प्रदान की है पर लड़के को यह यकीन हो जाए की इस लड़की को इसकी गलती की सजा प्राप्त करानी है और वह ( evidence collect ) शुरू कर देता है।

धोखेबाज Girlfriends के खिलाफ FIR करवा सकते है। step-by-step follow :-

1 – Section – 406 IPC के अनुसार केस

धारा – 406 कहती है ( Criminal beach of trust ) किसी व्यक्ति का विश्वास समाप्त करना ( break )तोडना अपराध है और विश्वास अनुसार सामान अपने पास रखना और वापस नहीं करना इसमें शामिल होता है।

( क ) धोखेबाज Girlfriends से गिफ्ट वापस लेना

आपने अपनी धोखेबाज गर्लफ्रेंड को गिफ्ट जरूर दिया होगा और यह आजकल ट्रैंड में भी है। और आप अपने सभी गिफ्ट इस धारा के अनुसार वापस मांग सकते है आप एक लीगल नोटिस भेज सकते है। और वह सामान वापस नहीं दे , आप धारा – 406 i p c में fir लिखवा सकते है। धारा के अनुसार – 3 वर्ष की सजा व जुर्माना व दोनों का प्रावधान है

( ख ) Gift Bill का प्रयोग करना

आपने , अपनी धोखेबाज गर्लफ्रेंड को गिफ्ट दिया है उसका बिल आपके पास होगा और online payment की है आपकी bank account स्टेटमेंट इसमें आपकी सहायक होगी।

गिफ्ट का कोई फोटो / वीडियो है वह आपके काम आएगा।

( ग ) गवाह का चयन किस प्रकार करें

आपका कोई भी विश्वासपात्र मित्र यह गवाही दे की वह गिफ्ट उसके सामने दिया और अपने रूपए खर्च कर दिया है।

आपने जिस दिन गिफ्ट दिया कोई विशेस दिन होगा वह बता सकें अच्छा होगा यह आपके केस को मजबूत करेगा।

आप यह जाने की कानून सबूत मांगता है इसके अभाव में एक कदम आगे नहीं बढ़ाता है इसलिय यह आपको इकट्ठा करने होंगे।

Girlfriends images 2

सवाल – वकील साहब , क्या धोखेबाज Girlfriends से गिफ्ट वापस प्राप्त किया जा सकता है।

स्पस्टीकरण – आपका प्रश्नः बहुत अच्छा है। कानूनन आप अपना गिफ्ट प्राप्त कर सकते है। आप दान की हुई कोई वस्तु प्राप्त नहीं कर सकते है। but गिफ्ट ले सकते है।

{ उदाहरण number 1 – }

आपने अपनी कोई सम्पत्ति ( कार / दुकान / घर व अन्य ) अपने घर के किसी भी सदस्य या रिश्तेदार को गिफ्ट में दी है और कुछ समय बाद वह आपके साथ फ्रॉड करें और आपका अपमान करें आपको चोट पहुँचाय आप कोर्ट केस कर गिफ्ट वापस ले सकते है

2 – Section – 426 / 427 IPC के अनुसार केस

धारा – 426 / 427 कहती है – ( mischief ) नुकसान करना , कोई व्यक्ति जानबूझकर आपका नुकसान करता है यह कार्य भी अपराध माना जाता है।

Example – आपकी धोखेबाज गर्लफ्रैंड आपका कोई सामान तोड़ दे , जला दे , आपके गिफ्ट को फेक दे , आपका मोबाइल तोड़ दे , या आपके किसी सामान की स्थिति बदल दे आदि

सजा – धारा – 426 में नुकसान करने के लिए 3 महीने की सजा व जुर्माने का दण्ड का प्रावधान है।

धारा – 427 में 50 रूपए से अधिक के नुकसान के लिए 2 साल की जेल व जुर्माने से दण्डित होगा।

आप fir में यह धारा भी लिखवा सकते है।

धोखेबाज Girlfriends || धोखेबाज Girlfriends || धोखेबाज Girlfriends

3 – धारा – 420 IPC के अनुसार केस

धारा – 420 कहती है – कोई भी व्यक्ति छल – कपट करेगा , बेईमानी करना ,व किसी मूलयवान वस्तु / सम्पत्ति सपरिवर्तित करेगा दंड का पात्र होगा। आप fir में इस धारा को भी लिखवा सकते है। आपको यह विश्वास हो जाए की आपकी धोखेबाज girlfriend ने प्लॉन बनाकर यह सब किया है आप धारा का प्रयोग कर सकते है। इसमें 7 वर्ष की जेल और जुर्माना दोनों हो सकते है।

धोखेबाज girlfriend mobile पर बात स्वीकारते हुए ( images )

4 – Section – 323 IPC का use

धारा – 323 कहती है – कोई भी व्यक्ति जानबूझकर इछानुसार चोट पहुँचाएगा एक माह की जेल जिसे 1 साल तक बढ़ाया जा सकता है। आपकी धोखेबाज गर्लफ्रैंड ने आपको ब्रेकअप हो जाने पर थपप्ड़ आपके दोस्त या रिश्तेदारों के सामने मारा हो और कोर्ट में गवाही देने के लिए तैयार हो , आप इस धारा का प्रयोग कर सकते है।

आपकी धोखेबाज girlfriends facebook / whatsaap , मोबाइल , चैटिंग में गर्लफ्रैंड ने थप्पड मारने की यह बात स्वीकार की है। यह आपके काम आएगी। 


Now Read This –Difference Between Lawyer And Advocate | Best 2021


5 – धारा – 504 ipc का use

धारा – 504 कहती है – कोई व्यक्ति इस आशय से अपमानित करेगा गाली / गलौच व शान्ति भंग से आशय यह जानते हुए करेगा दण्डित होगा। धोखेबाज गर्लफ्रैंड से ब्रेकअप के बाद लड़की ने गाली दी हो , अपशब्द कहे हो , आप धोखेबाज girlfriends के खिलाफ इस धारा को fir में लिखवा सकते है। धारा में 2 वर्ष की सजा व जुर्माना दोनों है सबूत के लिए औडियो / वीडियो रिकार्डिंग , चैटिंग , या गवाह

6 – धारा – 506 ipc का use

धारा – 506 कहती है – कोई भी व्यक्ति अपराध प्रकृति की धमकी देता है वह दो साल की जेल और जुर्माने से दण्डित होगा। प्रेमिका से रिलेशन समाप्त होने के बाद वह आपको किसी भी प्रकार की धमकी देती है। जैसे – आपको पिटवाने की धमकी देना , जान से मारने की , झूठे मुकदमे में जेल भिजवाना आदि आप इस धारा का प्रयोग कर लड़की को सबक सीखा सकते है।

7 – धारा – 499 / 500 का उपयोग

धारा – 499 /500 कहती है – कोई व्यक्ति जानबूझकर आपकी समाजिक प्रतिष्ठा को आघात पहुँचाता है यह अपराध माना जाएगा और धारा – 500 के अंतर्गत 2 साल की जेल या जुर्माना से दंडित होगा। लड़की आपको छोड़ने के बाद आपके खिलाफ अफवाह फैलाये आपकी प्रतिष्ठा को कलकित करे या पत्र द्वारा प्रकाशित करे आदि आप इस धारा का उपयोग कर सकते है। इस धारा अनुसार यह मानहानि का केस बनता है। 


Now Read This – जमानत देते समय पीड़ित को मुआवजा देने की शर्त नहीं लगाई जा सकतीः सुप्रीम कोर्ट


8 – सिविल रिकवरी केस और मैंडेटरी डायरेक्शन

आप धोखेबाज Girlfriends पर क्रिमनल केस नहीं करना चाहते और अपने गिफ्ट व रूपए की वापसी चाहते है। आप सिविल केस फाइल कर सकते है। इसमें गिफ्ट और पैसो की रिकवरी मिल जाएगी आपका केस इसमें आसानी से दर्ज हो जाएगा और कोर्ट की तरफ से नोटिस भी चला जाएगा।

पुलिस आपकी रिपोर्ट दर्ज नहीं करती है आप धारा – 156 ( 3 ) crpc के अंतर्गत कोर्ट में केस फाइल कर सकते है।

प्रश्नः वकील साहब , धोखेबाज गर्लफ्रैंड mobile पर बार बार ब्लैकमेल कर रही है क्या करें ?

Answer – आप इस लेख की सभी जानकारी ध्यानपूर्वक पढ़े आपकी problems का समाधान हो जाएगा और आप Section – 383 को fir में लिखवा सकते है यह ब्लैकमेल से सम्बंधित धारा है। यह धोखेबाज Girlfriends के लिए आपके केस को मजबूत करेगा।

सारांश –

यहाँ पर सभी साझा वकीलों द्वारा अपने अनुभवों से सरल शब्दों में जानकारी दी जा रही है हमारा उद्देश्य भारत देश के सभी नागरिको को कानून द्वारा अपने हितो की रक्षा , अधिकारों , व निकट भविष्य में किसी भी हानि से बचा जा सके। इस जानकारी से किसी एक को लाभ मिले यह हमारे लिए गर्व की बात होगी।आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो कृपया अपने सभी दोस्तों , रिश्तेदारों को शेयर करे यह लेख पढ़ने का आपको धन्यवाद।