कोर्ट मैरिज कैसे करें (court marriage ) | Best Kanoon 2021
Like and Share
कोर्ट मैरिज कैसे करें (court marriage ) | Best Kanoon 2021
650 Views

कोर्ट मैरिज कैसे करें – Court Marriage Kaise Kare – कोर्ट मैरिज क्या है समझे कानून की सरल भाषा में कोर्ट मैरिज के फायदे कोर्ट मैरिज में आवेदन किस प्रकार दिया जाता है।

court marriage ( photos 1 )

( Court Marriage Kaise Kare ) एक सामान्य वाक्य में कहा जाये भारत में अरेंज शादी की परम्परा निभाई जाती है। यह परम्परा पीढ़ी दर पीढ़ी चली आ रही है। हमारे बुजुर्ग ही हमको घर – परिवार व समाज के रीती – रिवाज सिखाते है। भारत देश में गरीब व मध्यम वर्गीय परिवारों के लिए शादी का खर्च उठाना सम्भव नहीं होता है और इसलिय कानूनी प्रक्रिया अनुसार शादी को आसान बनाया गया है। कानूनी तरीके से शादी करने में खर्च कम आता है। आज हम इस आर्टिकल पोस्ट के माध्यम से जानेगे। कोर्ट मैरिज कैसे करे? ( court marriage in hindi), कोर्ट मैरिज क्या है।

शादी एक ऐसी प्रक्रिया है। यह सभी लडके / लड़कियों के जीवन में बहुत महत्व रखती है पहले के समय में भारत के व्यक्तियों को कानून की जानकारी नहीं होती थी। वह माता पिता के मान – सम्मान व वचन के लिए आपसी सहमती से ही शादी करते थे। But समय आज Change ( बदल ) चुका है। आज हम जानगे। ( Court Marriage Kaise Kare )

Court Marriage के नाम से आपके Mind में एक विचार आया होगा। कोर्ट मैरिज की कानूनी प्रक्रिया क्या है। इसकी क्या आवयशकता है सरकार को इस कानून अपनाने की जरुरत क्यों पड़ी ?आपने  अभी-तक  बैंड-बाजे वाली बारात  देखी होंगी। But  शादियों में लोग लाखों रूपए खर्च करने के बजाय कोर्ट मैरिज कर अपने पैसे बचा रहे हैं।

Bollywood के नामचीन Film Star भी Court Marriage की प्रक्रिया अपना रहे है। 

Example – सैफ अली खान v/s करीना कपूर 

                   जॉन अब्रहाम v/s प्रिया रुंचाल 

                   मिनिषा लाम्बा v/s रियान थाम etc.

court marriage ( photos 2 )

What is Court Marriage

Court Marriage सभी प्रकार के धर्म – जाति व संप्रदाय के बालिग लड़का – लड़की के बीच विवाह हो सकता है। यह किसी विदेशी नागरिक व भारतीय नागरिक की भी Court Marriage  हो सकती है। कोर्ट मैरिज में किसी भी प्रकार का  भारतीय परंपरागत तरीका नहीं अपनाया जाता है। और  दोनों पक्षों को सीधे ही मैरिज रजिस्ट्रार के समक्ष आवेदन जमा करना होता है।

कोर्ट मैरिज किसी भी प्रकार के रीती -रिवाज कार्यक्रम के मैरिज ऑफिस में ऑफिसर के सामने सम्पन होती है। विशेष विवाह अधिनियम अनुसार यह शादी सम्पन होती है। 


यह भी पढ़े –( Cheque Bounce) चेक बाउंस केस से बचने के उपाय | Best 2021


कोर्ट मैरिज से सम्बधित आपके सवाल हमारे जवाब

कोर्ट मैरिज कितने दिन में होता है (Court Marriage Kitne Dino Mein Hota Hai)

Answer – Court Marriage Kitne Dino me Hota hai – Court marriage करने में आपको 36 दिनों का समय लगता है। कोर्ट मैरिज करने के लिए अपने नजदीकी मैरिज रजिस्ट्रार ऑफिस में आवेदन जमा करना होता है। और आपके जरुरी दस्तावेज जमा करने होते है। 

( court marriage ) कोर्ट मैरिज करने पर कितने रुपए मिलते हैं 2021?

Answer – सरकार ने समाज की रूढ़िवादिता व जातिगत भेद -भाव को दूर करने के लिए अन्तर्जातीय court marriage ( कोर्ट मैरिज आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है।) डॉ o  भीमराव अम्बेडकर स्कीम फ़ॉर सोशल इंट्रीग्रेश्न  थ्रू इंटरकास्ट मैरिज – ( Dr. Bhimrao  Ambedkar Scheme for Social Integration through Intercast Marriage ) आपको ढाई लाख रूपए ( 250000 रूपए ) प्राप्त होते है। और आपको विवाह Form – 1 के अंतर्गत आवेदन देना होता है। आपको अपने राज्य के सांसद , विधायक की रिपोर्ट लगानी होती है। 

( Court Marriage ) कोर्ट मैरिज का रजिस्ट्रेशन Online किया जा सकता है।?

Answer – Court Marriage ( कोर्ट मैरिज ) का रजिस्ट्रेशन Online नहीं किया जा सकता है आपको Marriage रजिस्ट्रार के यहाँ पेश होना जरुरी है। आपकी शादी का रजिस्ट्रेशन तभी मान्य होता है। 

Court Marriage करने के 5 फायदे

1 – आपके रूपए की फिजूलखर्ची नहीं होगी। 

2 – आपके सगे -सम्बधी करीबी लोग ही आयगे। 

3 – परम्परागत रीती -रिवाज निभाने नहीं होंगे। 

4 – अपनी डिमांड व परेशान करने वाले रिश्तेदार नहीं होंगे। 

5 – शादी का भोजन बर्बाद नहीं होगा। 

court marriages in कपल्स ( images )

Court Marriage के लिए जरुरी दस्तावेज ( Documents Need for Court Marriage )

  •  आप आवेदन पत्र को शुल्क सहित नियमनुसार भरकर जमा करे। 
  • वर – वधू के 4 फोटो जमा होगे। 
  • पहचान पत्र / आधार कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस की फोटोकॉपी आपको जमा करनी होगी। 
  • कोर्ट मैरिज की फीस सभी राज्यों में अपनी सेवा अनुसार अलग होती है। यह फीस 500 रूपए से लेकर 1000 तक हो सकती है। 
  • हाई स्कूल / इंटर की मार्कशीट की फोटोकॉपी या आप जन्म प्रमाण पत्र भी जमा कर सकते है। 
  • एक शपथ पत्र जिसमे यह लिखा होता है। आप किसी अवैध सम्बद्ध में लिप्त नहीं है। 
  • दूल्हा / दुल्हन के गवाहों की फोटो और पैन कार्ड जमा होता है। 
  • आप तलाकशुदा महिला है आपको तलाक के पेपर जमा होंगे। या आपके पहले पति की म्रत्यु हो गई है आपको डेथ सर्टिफेकट लगाना होगा।

Now Read This –

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने न्यायालय को गुमराह करने के लिए पुलिस अधिकारी को नोटिस जारी किया, ऐसे पुलिस स्टेशन के बारे में कोर्ट को बताया जो अस्तित्व में ही नहीं है


कोर्ट मैरिज के नियम 2021

  •  कोर्ट मैरिज के लिए लड़का व लड़की बालिग होने चाहिए। लड़की – 18 वर्ष और लड़का – 21 वर्ष 
  • कोर्ट मैरिज स्पेशल मैरिज एक्ट – 1954 के अनुसार होती है। और आप पहले से शादीशुदा न हो 
  • आप फिर से शादी करना चाहते है। आपको उसका प्रमाण देना होगा। जैसे – बीमारी से पत्नी / पति की मृत्यु होना आदि 
  • दूल्हा – दुल्हन दोनों ही मानसिक रूप से  स्वस्थ हो। 
  • वर – वधु का आपस में कोई पारिवारिक रिश्ता नहीं होना चाहिए। example – मामा – भांजी , चाचा – भतीजी , भाई – बहन etc इस प्रकार कम ही केस मिलते है। आपसे गलती न हो इसलिय लिख रहा हूँ। 
  • दो गवाह लड़की की तरफ से और दो गवाह लड़के की तरफ से होने चाहिए बिना गवाहों के शादी मान्य नहीं होती है। 
  • भारत देश के किसी भी शहर में आप कोर्ट मैरिज कर रहे है। आपको शादी की तारीख से 1 माह तक उस शहर का निवासी होना चाहिए।  

कोर्ट मैरिज के लिए अप्लाई का नियम

1  – प्रत्येक भारतीय नागरिक कोर्ट मैरिज के लिए अप्लाई कर सकता है। 

2 – रजिस्ट्रार आपके विवाह से सम्बंधित सूचना के लिए नोटिस जारी करता है। 

3 – विवाह का नोटिस रजिस्ट्रार के कार्यालय के बाहर लगा दिया जाता है।