डिजिटल रेप के आरोप में 81 साल का आर्टिस्ट गिरफ्तार | जानिए Digital Rape के बारे में क्या होता है | Best Cyber News 2022
Like and Share
डिजिटल रेप के आरोप में 81 साल का आर्टिस्ट गिरफ्तार | जानिए Digital Rape के बारे में क्या होता है | Best Cyber News 2022
273 Views

Digital Rape – जानिए 17 साल की नाबालिक लड़की से आरोपी ने इस घटना को अंजाम दिया है। ऐसे में इस प्रकार के आरोपी को एक रेपिस्ट के समान ही सजा मिल सकती है। 

Digital Rape IN Hindi – यह घटना नोएडा क्षेत्र से सम्बंधित है। सोमवार के दिन को 81 साल का एक बुजुर्ग स्केच आर्टिस्ट गिरफ्तार किया गया। और उस पर 17 वर्ष की नाबालिग लड़की से Digital Rape का आरोप है।

सूत्रों द्वारा पता चला है। कि पीड़ित लड़की आरोपी के एक कर्मचारी की बेटी है, और वह पढ़ाई के लिए पिछले 7 वर्षो से आरोपी के साथ ही रह रही थी। और इस प्रकार की गिरफ्तारी के बाद ‘डिजिटल रेप’ एक बार फिर चर्चा का विषय बन गया है।

डिजिटल रेप क्या होता है। || Digital Rape Kya Hota Hai

वास्तव में लोगो को पता ही नहीं होता है की डिजिटल रेप क्या होता है। और वह इसकी गलत व्याख्या करते है और मानते है  कि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर नेकेड तस्वीरें या फिर वीडियो के जरिए ऐसा होता है। पर यह आधा ही सच होता है।

Digital Rape – विदेशों में डिजिटल रेप शब्द बहुत समय से इस्तेमाल किया जाता रहा है। और अब हमारे देश के कानून में भी इसका प्रयोग किया जाने लगा है। डिजिटल रेप से आशय अंग्रेजी शब्द कोश में उंगली, या अंगूठा, या पैर की अंगुली को भी डिजिट से संबोधित किया जाता है अर्थात निजी अंगों को उंगली से छेड़ने को ही डिजिटल दुष्कर्म या रेप कहते हैं।

Digital Rape in Hindi – नोएडा में नाबालिग घरेलू कर्मचारी की लड़की के साथ 7 साल से डिजिटल दुष्कर्म करने के आरोप में 81 वर्षीय बुजुर्ग चित्रकार को सेक्टर-39 थाना कोतवाली Police ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट ( Posco Act ) में कार्रवाई की गई है। यह नोएडा सेक्टर-39 थाना प्रभारी राजीव बालियान ने बताया
प्राप्त जानकारी के अनुसार यह मूलरूप से प्रयागराज निवासी चित्रकार मौरिस राइडर की महिला फ्रेंड्स के साथ सेक्टर-46 में रहते हैं। और उनके साथ 17 वर्षीय घरेलू सहायिका भी रहती है। यह की पीड़िता ने Police को दी शिकायत में आरोप लगाया है कि यह 10 वर्ष की उम्र से आरोपी यौन शोषण कर रहा है। और आरोपी की Video और ऑडियो रिकॉर्डिंग भी Police को मुहैया कराई गई है।
Digital Rape Case – जिला हॉस्पिटल में मेडिकल जांच के बाद आरोपी बुजुर्ग को पुलिस ने उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के खिलाफ IPC की धारा – 376, व 323, व 506 और पोक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई है। Police एविडेन्स  एकत्र कर रही है तथा इन्हें इकठ्ठा कर अदालत में पेश करने की तैयारी में लग गई है ताकि इस प्रकार के आरोपी को सख्त से सख्त सजा दी जा सके।

 डिजिटल रेप किस प्रकार से अलग है। 

रेप और Digital Rape में सीधा फर्क है और वह रिप्रोडक्टिव आर्गन के इस्तेमाल का। हालांकि यह कानून की नजर में रेप व  डिजिटल रेप में कोई ज्यादा फर्क नहीं है। साल – 2012 से पहले डिजिटल रेप को केवल छेड़छाड़ के दायरे में रखा था, BUT  निर्भया केस के बाद इसे Rape की कैटेगरी में जोड़ दिया गया है।


यह भी पढ़े – Sunday Jazbaat images 3

Sunday Jazbaat : मुंबई ग्लैमर दुनियाँ का काला सच जिसने एक्टर को बनाया बार डांसर | Best True Story 2022


दिसंबर साल के – 2012 में दिल्ली में हुआ निर्भया केस के बाद यौन हिंसा से जुड़े सभी कानूनों की समीक्षा की गई थी। India  के पूर्व चीफ जस्टिस मुख्य माननीय न्यायाधीश जस्टिस वर्मा की अध्यक्षता वाली कमेटी ने कुछ सुझाव दिए। और इनमें से कई को पुराने अपनाते कानून को बदला गया।

और साल – 2013 में Rape की परिभाषा को फोर्स्ड पीनो-वजाइनल पेनिट्रेशन से बढ़ाया गया है। और New परिभाषा के मुताबिक, अब किसी महिला के बॉडी में किसी भी चीज या फिर शारीरिक अंग को जबरदस्ती डालना रेप की श्रेणी माना गया है।

IPC की धारा – 376 की खामियां उजागर होने के बाद इसमें प्रमुख बदलाव किया गया

मुंबई व दिल्ली में हुई इस प्रकार की इन 2 डिजिटल रेप की घटनाओं ने IPC की धारा – 376 की खामियों को उजागर किया और जो यह रेप के अपराधों से संबंधित हैं क्याेंकि Digital Rape के तहत हुए अपराध में जिसमें यह मूल रूप से उंगलियों या

फिर किसी बाहरी वस्तु या फिर मानव शरीर के किसी Other पार्ट्स का यूज कर महिला की गरिमा के साथ खिलवाड़ किया गया था, BUT इसे किसी भी धारा के अनुसार अपराध नहीं माना गया। और इसी बात को देखते हुए  रेप की परिभाषा में बदलाव कर डिजिटल रेप ( Digital Rape ) को भी इसमें शामिल किया।

आरोपी को आजीवन कारावास तक की सजा हो सकती है 

IPC की धारा – 376 में के तहत मुताबिक, डिजिटल रेप ( Digital Rape ) का दोषी पाए जाने पर किसी भी व्यक्ति को 5 साल की सजा हो सकती है। और कुछ मामलों में यह सजा अधिकतम 10 साल या फिर आजीवन कारावास भी हो सकता है।


यह भी पढ़े –Weather Update: बंगाल की खाड़ी पहुंचा मानसून, जानिए आपके राज्य को कब मिलेगी गर्मी से राहत?