“Income Tax News In Hindi || Best Important Law Notes 2022”
Like and Share
“Income Tax News In Hindi || Best Important Law Notes 2022”
1,639 Views

Income Tax के Rules के अनुसार , टैक्सेबल आपकी Income  5 लाख रुपये से कम होने पर आपका टैक्स जीरो हो जाता है। और Income Tax के Section – 87ए के अनुसार 5 लाख रुपये से कम की आय पर टैक्स नहीं लगता है। इस प्रकार 10 लाख रुपये तक की सैलरी पर आप अपना Tax  घटाकर जीरो कर सकते हैं।

Income Tax के Section – 80सी के अनुसार आप सालाना 1.5 लाख रुपये ( Invest ) इन्वेस्ट कर डिडक्शन हासिल कर सकते हैं। और Section – 80सी के अनुसार  लाइफ इश्योरेंस प्रीमियम, व पीपीएफ, व म्यूचुअल फंड की टैक्स सेविंग्स स्कीम, व पीपीएफ, व दो बच्चों की ट्यूशन फीस, व होम लोन के प्रिंसिपल सहित और भी कई चीजें आती हैं

Income Tax News – अगर आपकी नौकरी से आपकी सालाना (Annual Income) 10 लाख रुपये तक है तो आपको टैक्स (Income Tax) की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। आप पूरा का पूरा टैक्स बचा सकते हैं। बस इसके लिए आपको थोड़ी सही प्लानिंग ( Planning) करनी होगी। 

Income Tax News – और नया वित्त वर्ष 1 अप्रैल से शुरू होता है। इसलिए अगर आप टैक्स ( Tax ) बचाना चाहते हैं इसके लिए आपको सही प्लान बनाने और उस पर अमल के लिए पूरा समय है। हम आपको जानकारी दे रहे हैं कि टैक्स ( Tax ) बचाने के लिए आपको क्या करना होगा।

Income Tax आपकी सालाना Income 10 लाख रुपये तक की है तो फिर आप टैक्स की चिंता न करें | जानिए क्यों और कैसे ?


Read Me –

एन.डी.पी.एस. ( NDPS Act ) क्या होता है | Best Law Notes 2021


Income Tax के कई नियम ( Rules ) और प्रावधान आपको टैक्स डिडक्शन की सुविधा देते हैं। और इनमें Section – 80 सी सबसे पॉपुलर है। और इसके बाद Section – 80सीसीडी(1बी), व हाउसिंग लोन या एजुकेशन लोन या  हेल्थ पॉलिसी टैक्स बचाने में आपकी मदद ( Help ) करती हैं।

Income Tax के उपर्युक्त नियमों का अगर आप पूरा लाभ  उठाने के लिए तैयार हैं तो फिर 10 लाख रुपये तक की Income  पर आपको टैक्स चुकाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

स्टैंडर्ड डिडक्शन का लाभ 

Income Tax News – Government  नौकरी या फिर पेंशन पाने वाले लोगों को स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा देती है। और अभी एक वित्त वर्ष में आपकी कुल Income  पर 50,000 रुपये का स्टैंडर्ड डिडक्शन मिलता है। और इसका लाभ नौकरी वाले सभी टैक्सपेर्यस को मिलता है। और इस प्रकार अगर आपकी सालाना इनकम 10,00,000 रुपये है और आप  स्टैंडर्ड डिडक्शन के बाद आपकी इनकम 9.5 लाख रुपये रह जाएगी।

जैसे – 10,00,000 – 50,000 = 9.5o,000 रुपए 

स्टैंडर्ड डिडक्शन का लाभ 

Income Tax News – Government  नौकरी या फिर पेंशन पाने वाले लोगों को स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा देती है। और अभी एक वित्त वर्ष में आपकी कुल इनकम  पर 50,000 रुपये का स्टैंडर्ड डिडक्शन मिलता है। तथा  इसका लाभ ( Benefit ) नौकरी वाले सभी टैक्सपेर्यस को मिलता है। और इस तरह  अगर आपकी वार्षिक  इनकम 10,00,000 रुपये है और आप  यदि स्टैंडर्ड डिडक्शन के बाद आपकी इनकम ( Income ) 9.5 लाख रुपये रह जाएगी।

Section – 80सी का लाभ 

Income Tax  के Section – 80सी के तहत आप सालाना 1.5 लाख रुपये इनवेस्ट कर डिडक्शन हासिल कर सकते हैं। और Section – 80सी के तहत आप लाइफ इश्योरेंस प्रीमियम, व पीपीएफ, व म्यूचुअल फंड की टैक्स सेविंग्स स्कीम, व पीपीएफ, व दो बच्चों की ट्यूशन फीस, व होम लोन के प्रिंसिपल सहित कई चीजें आती हैं।

और अगर आप इस सेक्शन ( Section ) का पूरा फायदा उठाते हैं तो आपकी टैक्सबेल इनकम ( Income ) घटकर 8 लाख रुपये (स्टैंडर्ड डिडक्शन के बाद 1.5 लाख रुपये घटाने पर) कितनी रह जाएगी।

नेशनल पेंशन स्कीम ( NPS ) पर टैक्स डिडक्शन

Income Tax News – इनकम टैक्स के Section – 80सीसीडी (1बी) के तहत नेशनल पेंशन स्कीम ( NPS ) में इनवेस्टमेंट पर अतिरिक्त 50,000 रुपये वार्षिक का डिडक्शन क्लेम ( Claim ) किया जा सकता है।


Read Me – सिर्फ मांगने पर ही किराएदार को दिल्ली किराया नियंत्रण कानून की धारा 25बी के तहत बचाव की अनुमति नहीं दी जा सकती : सुप्रीम कोर्ट


और इसका मतलब है कि इस Section  के तहत आप एक वित्त वर्ष में अतिरिक्त 50 हजार रुपये का अतिरिक्त डिडक्शन प्राप्त  कर सकते हैं। इस प्रकार  8 लाख रुपये में से 50 हजार रुपये घटाने पर आपकी आय कुल 7.5 लाख रुपये रह जाती है।

Income Tax News update ( images )

होम लोन पर Tax  छूट

Income Tax News in Hindi – होम लोन पर Tax  छूट मिलती है। और इसलिए अगर आप अपना टैक्स ( Tax ) घटाना चाहते हैं तो आप होम लोन ( Home Loan ) पर मिलने वाले डिडक्शन का फायदा उठा सकते हैं।

और अगर आप होम लोन ( Home Loan ) के इंट्रेस्ट पर एक वित्त वर्ष में 2 लाख रुपये तक के डिडक्शन का दावा करते हैं तो आपको  7.5 लाख रुपये में से 2 लाख रुपये घटाने पर आपकी इनकम ( Income ) 5.5 लाख रुपये रह जाती है।

हेल्थ पॉलिसी पर Tax  छूट

Income Tax News Update – हेल्थ पॉलिसी खरीदने ( Buy ) पर इनकम टैक्स ( Income Tax ) डिडक्शन की सुविधा मिलती है। और आप खुद और अपने परिवार ( Family ) के लिए हेल्थ पॉलिसी खरीदकर सालाना 25,000 रुपये डिडक्शन का दावा कर सकते हैं।

और अगर आप अपने बुजुर्ग माता-पिता ( Mother and Father ) के लिए हेल्थ पॉलिसी खरीदते हैं तो आपको अतिरिक्त वार्षिक  50,000 रुपये डिडक्शन का लाभ  मिलता है। और आपकी 5.5 लाख रुपये की इनकम ( Income ) से 75,000 रुपये घटा देने पर Income  4.75 लाख रुपये सालाना रह जाती है।

Section – 24(b) का use 

Income Tax News – Home Loan पर ब्याज को दो कैटेगरीज में बांटा जाता है- पहला निर्माण पूरा होने के पहले का ब्याज और दूसरा निर्माण पूरा होने के बाद की Time के बाद का ब्याज। और निर्माण पूरा होने के बाद की अवधि ( Time ) में भुगतान किए गए ब्याज के लिए Income Tax  एक्ट के सेक्शन 24b के अनुसार  2 लाख रुपए तक का टैक्स ( Tax ) डिडक्शन मिलता है। 

किराए ( Rent ) की प्रॉपर्टी पर ब्याज कटौती के लिए क्लेम ( Claim ) करने की कोई ऊपरी सीमा नहीं है। और यह डिडक्शन केवल उसी वर्ष से क्लेम किया जा सकता है, और जिसमें घर का निर्माण पूरा हुआ है।

Income Tax News Update – और कई बार लोग निर्माणाधीन प्रॉपर्टी ( Property ) के लिए होम लोन लेते हैं और इसके बाद में उसका पजेशन मिलता है, लेकिन होम लोन ( Home Loan ) का भुगतान लोन लेने के तुरंत बाद शुरू हो जाता है।

और ऐसे लोगों के लिए Section – 24b के भीतर निर्माण पूरा होने से पहले की अवधि ( Time ) के लिए 5 साल तक की अवधि ( Time ) में ब्याज पर 5 साल तक (5 समान किस्तों में) टैक्स डिडक्शन क्लेम ( Claim ) किया जा सकता है।

और इस बात का ध्यान रखें कि इसमें अधिकतम Section – 24b के ही अनुसार  2 लाख रुपए तक की ऊपरी सीमा है, जिस पर क्लेम ( Claim )  किया जा सकता है।

Section – 80EE

Section –  80 EE मकान मालिक को होम लोन ईएमआई ( EMI ) के ब्याज पर 50 हजार रुपए (Section – 24) की अतिरिक्त कटौती का दावा करने की अनुमति देता है। और बशर्ते यह लोन 35 लाख रुपए से अधिक नहीं होना चाहिए और संपत्ति ( Property ) का मूल्य 50 लाख रुपए से अधिक नहीं होना चाहिए। और इसके अलावा, किसी व्यक्ति के पास लोन ( Loan ) स्वीकृत होने के समय उसके नाम पर पंजीकृत कोई अन्य संपत्ति ( Property ) नहीं होनी चाहिए।

Joint Home Loan लोन के मामले में, दोनों लोन लेने वाले व्यक्तियों ( Person ) को 80C के अनुसार  2 लाख रुपए तक के ब्याज भुगतान पर टैक्स ( Tax ) कटौती लेने का अधिकार है। और 80EE / 80EEA के तहत टैक्स ( Tax ) छूट भी लेना भी इसके अनुसार  लिया जा सकता है।