पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी ( Power of Attorney ) क्या है | Best Law 2021
Like and Share
पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी ( Power of Attorney ) क्या है | Best Law 2021
538 Views

Power of Attorney – कानून की दुनिया या old age time की फिल्मों में आपने पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी का यह शब्द बहुत सुना होगा। हिंदी व उर्दू भाषा में मुख्तारनामा के नाम से जाना जाता है 

पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी का अर्थ क्या है। 

Power of Attorney – पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी से आशय – अपनी शक्ति दूसरे को हस्तनांतर करने की विधि ही पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी कहलाती है। पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी को बहुत से कार्य क्षेत्रो में उपयोग किया जाता है। आपकी अपनी कोई प्रॉपर्टी है उसको ट्रांसफर करने के लिए , आपका कोई बिजनेस है उसकी देख -भाल करने के लिए , आप किसी गम्भीर बीमारी से पीड़ित है। आदि 

पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी के विषय में विस्तार से जानने के लिए ( 99 kanoon . com ) में आपका welcome है। कानून से जुडी जानकारी के लिए यहाँ विजिट कर सकते है। 

पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी की परिभाषा क्या है। ?

Power of Attorney – पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी अधिनियम – 1982 की धारा – 3 ( 1 ए ) में दी गई है। वह लिखित कानूनी प्रक्रिया दस्तावेज होता है। जिसमे एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति को अपनी किसी वस्तु के उपभोग करने के लिए सहमति प्रदर्शित करता है। 

Power of Attorney – जिस व्यक्ति के नाम पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी आती है उसको एजेंट के रूप में जाना जाता है। जो अपने मालिक के न होने पर सभी वित्तीय मामलों में निर्णय लेता है। व जो व्यक्ति पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी करता है वह प्रिंसिपल के रूप में जाना जाता है। 

( Power of Attorney ) – आप उदाहरण द्वारा भी समझ सकते है। 

EXP – आपने शरुखखान अभिनीत फिल्म बाजीगर देखी होगी , आपको याद होगा की शरुखखान अपने पिता का बदला लेने के लिए काजोल के पिता का विश्वास हासिल करता है। काजोल के पिता किसी काम से विदेश जाते है परन्तु बिजनेस वर्क न रुके इसके लिए पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी नाम कर जाते है। बाकि आप स्वयं समझदार है। 

पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी  किन कार्यों में USE होती है। 

Power of Attorney – पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी को आप अपनी जरुरत के हिसाब से उपयोग कर सकते है। BUT अधिकाँश इसका यूज़ सम्पत्ति के मामले में , आप वाहन के सम्बध में प्रयोग कर सकते है। , आप बैंक को सूचारू रूप से संचालन के लिए कर सकते है। आपने कोई बीमा पॉलिसी ली हुई है उसके संचालन के लिए , अपनी किसी अचल सम्पत्ति के लिए पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी का यूज़ कर सकते है। 

पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी कितने प्रकार की होती है।?

पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी को दो भागो में बांटा गया है। 

1 – सामान्य प्रकार की Power of Attorney 

जनरल प्रकार की पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी से आशय – वह कार्य होते है। जो युक्तियुक्त कारण सामान्य है उसमे विशेष जांच की आव्यशकता नहीं होती है। और इस कार्य के अन्तर्गत बिजनेस या किसी सम्पति का मालिक अपने समस्त राइट्स किसी दूसरे अन्य व्यक्ति को ट्रान्सफर कर देता है। इस प्रकार की पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी के समाप्त होने की कोई टाइम लिमिट नहीं होती है। Because स्थाई बनाए रखने की बात लिख दी जाती है। 


इसकी भी जानकारी लें – Transit Bail क्या होती है। क्या है  इसके लाभ Best 2021


2 – विशेष प्रकार की Power of Attorney 

विशेष प्रकार की पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी से आशय – किसी प्रमुख उद्देश्य की पूर्णता के लिए कानूनी दस्तावेज तैयार किया जाता है। जिस कार्य के लिए पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी को अपनाया जाता है। वह पूर्ण होने के बाद निरस्त हो जाती है। इसमें कितने समय व दिनों की बाध्यता लिखी होती है। 

पॉवर ऑफ अटॉर्नी और रजिस्ट्री में क्या फर्क है?

Power of Attorney – से आशय किसी ऐसी वस्तु से लिया जाता है जिसमे सामान्यतः जनरल पॉवर अटॉर्नी दो गवाहों के समक्ष नोटरी से अटैच होती है परन्तु सब रजिस्ट्रार के यहाँ रजिस्टर्ड नहीं होती है जिस कारण सम्पत्ति विवाद मामले में उसे अपनी सत्यता साबित करनी होती है।

राजिस्ट्री – से आशय लिखित कानूनी प्रक्रियो की जमाबंदी होती है। जिसमे दोनों पक्षों की आवयशक जांच के बाद ही किसी भी अचल सम्पत्ति को रजिस्टर्ड किया जाता है। व ऐसे दस्तावेजों में सरकार ही गवाह का काम करती है।


Read me – State Of Rajasthan & Ors vs Basant Nahata on 7 September, 2005


Power of Attorney के फायदे क्या है। 

  • एक ही निश्चित प्लेस पर आपकी होने की मौजूदगी से बचा जा सकता है। 
  • वह व्यक्ति एक एजेंट के रूप में आपके निर्णय लेने की शक्ति प्राप्त कर लेता है। 
  • यह आपके परिवार के सदस्यों को एजेंट के रूप में कार्य पर बने रहने व कार्य की दक्षता प्रदान करता है। 
  • यह एक एजेंट को धनराशि का सदुयोग करने व रूपए के लेन – देन करने की आज्ञा मिलती है। 
  • वह एजेंट आपके पारवारिक सदस्य है या विश्वासपात्र व्यक्ति होने पर आपको किसी भी प्रकार से छल होने की चिन्ता की जरुरत नहीं पड़ती है।