रिलीज डीड( Release Deed ) संपत्ति मामलों में लाभ | Best 2022
Like and Share
रिलीज डीड( Release Deed ) संपत्ति मामलों में लाभ | Best 2022
915 Views

Release Deed – रिलीज डीड का मतलब है अपने अधिकार का त्याग करना। इसका उपयोग ज्यादातर संपत्ति के मामलों में किया जाता है। कानून में इसकी खास व्यवस्था की गई है। इसे हासिल करने के लिए, आपको यह साबित करना होगा कि ऐसे आधार हैं जो उन्हें रखने लायक बनाते हैं और रखवाले को कोई आपत्ति नहीं है। वर्तमान समय में इसका प्रचलन काफी बढ़ गया है। 

Contents

Release Deed Kya Hoti Hai – रिलीज डीड से आशय अपने अधिकार का त्याग करने से है। यह अधिकांश संपत्ति के मामलों में प्रयोग किया जाता है। इसे कानून में विशेष प्रकार की व्यवस्था दी है।  इसका उपयोग ज्यादातर संपत्ति के मामलों में किया जाता है।  वर्तमान समय में इसका प्रचलन काफी बढ़ गया है। रिलीज डीड सम्पति के सम्बन्थ में इसलिय बनाई जाती है। ताकि अमुख व्यक्ति वारिस होने का हक़ रखता है। 

रिलीज डीड किस धारा में पंजीकरण होता है।?|| Under which section is the release deed registered?

Release Deed – रिलीज डीड को पंजीकरण एक्ट – 1908 के Section – 17 के अनुसार पंजीकरण कराना अति आवयशक होता है। 


इसकी भी जानकारी लें -Arya Samaj |आर्य समाज शादी प्रोसीजर क्या है | Best Law 2022


क्या रिलीज डीड वापस ले सकते है।? || Can release deed be withdrawn?

Release Deed – आपने एक बार रिलीज डीड का दस्तावेज तैयार करके पंजीकरण करा लिया तो उसके बाद आप उसे वापस नहीं लें सकते है। क्योकि आपने सभी कार्य कानून की जानकारी में किए होते है। 

कानून में रिलीज डीड की आव्यशकता क्यों पड़ती है।

Release Deed – इस प्रकार की डीड का प्रयोग उस सिचुएशन में किया जाता है। जब संपत्ति स्वामी के एक से अधिक वारिस हो , व किसी भी वारिस में संपत्ति को लेकर कोई विवाद न रहता हो , उस स्थिति में एक वारिस दूसरे वारिस को रिलीज डीड कर सकता है। और उसमे यह लिखा होता है। यह संपत्ति उसे उत्तराधिकार होने के नाते मिली है। व उसके द्वारा ऐसी संपत्ति को किस कारण वश छोड़ा जा रहा है या इस प्रकार की रिलीज डीड में फ्री मेँ भी हक़ त्याग कर दिया जाता है। 

Release Deed – जो व्यक्ति इसे प्राप्त करता है वह या तो स्वीकार करेगा या वह करने से इंकार कर देगा जो आप उसे बताएंगे, लेकिन यदि संभव हो तो वह अपने अधिकारों को छोड़ने के लिए सहमत होगा। 2. एक भूमि शीर्षक प्रमाणपत्र केवल “यह स्वामित्व वापस नहीं जाता है” कहता है। जब तक प्राचीन काल का प्रमाण न हो (मान लीजिए 15 वर्ष), इसका अर्थ यह नहीं है कि उनके पास उन पर कोई दावा है और उन्हें कभी भी उनके घरों से बेदखल नहीं किया जा सकता है;


Read Me – Rathnamma vs Hiriyamma on 19 February, 2014


हम किसी के उत्तराधिकारी के रूप में स्थिति के बारे में पिछले इतिहास के बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं जब तक कि इन लोगों द्वारा आज से पहले मुआवजे के लिए कोई समझौता नहीं किया गया था। मुझे विश्वास है कि आधुनिक समाज के साथ इस तरह के समझौते लगभग न के बराबर हैं

Release Deed – रिलीज डीड का मतलब है अपने अधिकार का त्याग करना। इसका उपयोग ज्यादातर संपत्ति के मामलों में किया जाता है। कानून में इसकी खास व्यवस्था की गई है। यदि तुम देने को तैयार हो, तो निष्ठा की शपथ खाओ और शपथ खाओ कि वह वही करेगा जो मैं उससे कहूँगा। इस अवधि के दौरान यदि आवश्यक हो तो कार्य भी किया जाना चाहिए। जीवन के लिए क्या मायने रखता है, जब वे घर छोड़ते हैं – कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम मृत्यु के बाद कहाँ जाते हैं।

Release Deed images for property

रिलीज डीड व सेल डीड में क्या अन्तर है।

Release Deed – रिलीज डीड और सेल डीड में ज्यादा अन्तर नहीं होता है। रिलीज डीड में आप केवल सगे – सम्बन्धी जो ब्लड रिलेशन में आते है उन्हीं को कर सकते है। जैसे – भाई , बहन , पिता , पुत्र आदि | इस कार्य में सबसे अच्छी बात यह है की स्टाम्प ड्यूटी बहुत कम लगती है , और लोगो में प्रॉपर्टी ट्रान्सफर का तरीका को बेहतर समझते है। 

सेल डीड – सेल डीड से आशय उस कानूनी प्रक्रिया से है जिसमें विक्रय विलेख का ज़िक्र होता है। इसमें किसी भी प्रकार की बाउंडेशन नहीं होती है। आप किसी को भी सम्पति बेच सकते हो और अपना प्रतिफल प्राप्त कर सकते है। तथा इसमें स्टाम्प ड्यूटी गवरमेंट के हिसाब से चुकानी होती है। 

गिफ्ट और रिलीज डीड में क्या अन्तर होता है। || What is the Difference Between a Gift and a Release Deed?

Release Deed – रिलीज डीड और गिफ्ट में बहुत अन्तर होता है। BUT बहुत से लोगोँ में भ्रम फैला होता है की यह दोनों कानूनी प्रक्रिया समान होती है। पर वह गलत होते है। इसको विस्तार से जानते है। 

  • गिफ्ट को आप किसी भी व्यक्ति व अन्य व्यक्ति भी किसी को भी प्रदान कर सकता है। , वहीँ रिलीज डीड में ऐसा नहीं है। आप उसे ही कर सकते हो जो संपत्ति में वारिसान के रूप में दर्ज हो | 
  • गिफ्ट की गई किसी भी वस्तु के बदले पैसे नहीं दिए जाते है। वहीँ आप रिलीज डीड में आप पैसे ले भी सकते है। और नहीं भी 
  • यहाँ पर दोनों में एक बात की समानता दिखाई देती है। और वो है। रजिस्टर्ड करवाना , बिना रजिस्ट्रेशन के दोनों शून्य माने जाते है। इस कार्य में किसी भी प्रकार से छूट नहीं दी गई है।