traffic police rights in India in hindi अपने अधिकार जानते है | Best 2021
Like and Share
traffic police rights in India in hindi अपने अधिकार जानते है | Best 2021
638 Views

traffic police rights in India in hindi – ट्रैफिक नियमों को लेकर अकसर हम अनभिज्ञ रहते है। जब से New मोटर एक्ट – 2019 संशोधन बिल पास हुआ है। तब से गाड़ी चालान की राशि को बढ़ा दिया गया है।

 

traffic police rights in India in hindi – पुलिस वाले अक्सर सड़क के चौराहों या भीड़ – भाड़ वाले इलाकों में पुलिस चैकिंग शुरू कर देती है। और रोककर गाड़ी के पेपर नहीं दिखाने पर गलत व्यवहार करती है। और आपने अक्सर देखा या सुना होगा या न्यूज़ में सुना होगा की पुलिसकर्मी / ट्रैफिक जवान गाड़ी रोककर चाबी निकाल ली जाती है। और आपके साथ मनमाना व्यवहार शुरू कर देते है। व आपकी फैमली / दोस्त या आपके साथ इस प्रकार घटना हुई है। आपको किसी भी प्रकार से घबराने की जरुरत नहीं है।

यह खबर आपके लिए है। ( 99 कानून . com ) इस प्रकार की नॉलेज प्वॉइंट आपको प्रोवाइड कराता है।

ट्रैफिक नियम तोड़ने के लिए आप पर जुर्माना लगाया जाता है। और उसे वसूलने के लिए कानूनी कार्यवाही भी पूरी की जाती है। But आपके कुछ कानूनी अधिकार है। जिनको आपका जानना जरुरी है। आपको ट्रैफिक लॉ से जुड़े नियम भी पता होना चाहिए।

 

traffic police rights in India in hindi –  गाड़ी / मोटरसाइकिल को चलाते समय सड़क पर ट्रैफिक सिपाही आपसे गाड़ी के कागज दिखाने की डिमांड करता है। आप यह कहें की ट्रैफिक सिपाही को गाड़ी के पेपर चैक करने की परमिशन नहीं है। और वह आपसे बतमीजी करें तो सीनियर से शिकायत कर सकते है।

Traffic Police Rights in India in Hindi ( images 2 )

ट्रैफिक Law के अनुसार – ( A.A.S.I ) रैंक या उससे बड़ा अधिकारी आपके गाड़ी के कागज देख सकता है।

( 2 ) गाड़ी से सम्बंधित मामलो में किसी भी प्रकार से ट्रैफिक सिपाही आपको हिरासत में नहीं ले सकता है। और आपकी गाड़ी को सीज़ ( जब्त ) नहीं कर सकता है। और उसे पॉल्यूशन पेपर चैक नहीं कर सकता क्योकि यह राइट्स आर .टी .ओ ऑफिशियल्स में का होता है।और आपसे किसी भी कारण से यातायात नियम टूट जाता है। सिपाही आपकी गाड़ी से चाबी नहीं निकाल सकता है।

( 3 ) आपसे नियम टूट जाने पर जुर्माना वसूलने का अधिकार ( The Indian motor vehicle act के अनुसार ( 1 स्टार , इस्पेक्टर ) , ( 2 स्टार ) , व ( 3 स्टार , ) इस्पेक्टर ले सकता है।ट्रैफिक सिपाही अपने सीनियर के साथ मिलकर कार्य में मदद कर सकता है।

( 4 ) आप ट्रैफिक नियमो का उलघन करते है। जैसे – गाड़ी के कागज न होना , सिग्नल तोड़ कर निकलना , शराब पीकर व तेज स्पीड में गाड़ी चलाना आदि नियमों को तोड़ने पर आपका लाइसेंस ट्रैफिक पुलिस जब्त कर सकती है।

( 5 ) ट्रैफिक पुलिस व्यक्ति बिना यूनिफॉर्म के है। और आपका चालान नहीं काट सकता है। उसे इस प्रकार का कोई अधिकार प्राप्त नहीं है।

( 6 ) आप हमेशा गाड़ी के कागज अपने पास रखें। आप इसके लिए ओरिजनल डोकोमैंट की फोटो स्टेट या ऍप जिसमे डोकोमैंट स्कैन कर रख सकते है। ड्राईविंग लाइसेंस जरूर लेकर जाए। गाड़ी चैकिंग के समय आपको कोई परेशानी नहीं होगी।

( 7 ) आप लोकल एरिया में आने – जाने के लिए इलेक्ट्रिक वाहन का उपयोग कर सकते है। इसमें किसी भी प्रकार के पेपर की जरुरत नहीं पड़ती है। और यह वाहन चैकिंग रहित रहता है तथा आपको पैट्रोल के बढ़ते बिल से राहत भी मिलेगी।

( 8 ) यह जानकारी आपके घर के किसी भी सदस्य के लिए हो सकती है – आपने अपनी गर्दन से ऊपर सर्जरी या सिख है और आपने पगड़ी पहन रखी है। आपके लिए हेलमेट लगाना जरुरी नहीं है। 


इसको भी पढ़े –NDPS ACT In Hindi – एन.डी.पी.एस. अधिनियम 1985 Best 2021


प्रश्नः – वकील साहब , गाड़ी में सीट बेल्ट नहीं लगाने
पर कितना जुर्माना लगता है। ?

Answer – गाड़ी में सीट बेल्ट नहीं लगाते है। आप ( 1000 रूपए ) का फाइन भरना होगा।

प्रश्नः – Sir , बिना लाइसेंस के गाड़ी चलाने पर किस धारा में जुर्माना लगता है ?

Answer – ( traffic police rights in India in hindi ) – आप बिना लाइसेंस के गाड़ी चलाते है। आप पर Section – 181 के अनुसार कानूनी कार्यवाही की जाती है। व आप पर ( 5000 रूपए ) का फाइन लगता है।

ट्रैफिक पुrलिस आपसे कितने प्रकार के चालान काट सकती है।?

traffic police rights in India in hindi – ट्रैफिक पुलिस द्वारा आपसे तीन प्रकार से चालान ले सकती है। इसके अलावा केन्द्र सरकार द्वारा विशेष परिस्थितियॉ में गाइड लाईन जारी कर भी चालान काट सकती है।

traffic police rights in India in hindi images 3

( क ) ON THE स्पॉट चालान 👉 ( traffic police rights in India in hindi ) – आप ट्रैफिक नियम तोड़ा है व आप तभी पकड़ लिए जाते है। और आपका तुरन्त चालान कर जुर्माना वसूल किया जाता है। चालान होने पर आपके पास रूपए नहीं है तो आपका ड्राइविंग लाइसेंस जब्त कर लिया जाता है। जो चालान जमा करने के बाद मिल जाता है। 


इसको भी पढ़े – RERA- धारा 40 : घर खरीदार बिल्डर से ब्याज के साथ निवेश की गई राशि भू-राजस्व के बकाया के रूप में वसूल कर सकते हैं : सुप्रीम कोर्ट


( ब ) NOTICE चालान 👉 ( traffic police rights in India in hindi ) – नोटिस चालान का तातपर्य ऐसे चालान से लिया जाता है। जिसमें ट्रैफिक पुलिस यातायात नियमों को तोड़ने पर आपको रोकती नहीं है। आपकी गाड़ी का नंबर नोट कर आपके पते पर भेज देती है। मेट्रो शहर में व विदेशों में इस प्रकार के चालान भेजने की सुविधा है।

( स ) COURT चालान 👉 कोर्ट चालान में दो प्रकार की स्थिति होती है।

1 – जैसे आपने , अपना चालान सही समय पर जमा नहीं किया है। चालान कटने के एक महीने बाद जमा न होने पर कोर्ट में

2 – दूसरी स्थिति में वह चालान जैसे – बिना नंबर की गाड़ी , इस प्रकार के हादसों को दावत देनी जिसमे चोट या एक्सीडेंट से सम्बंधित मामले आते है।

trafic police rights in india in hindi ( images 4 )

शराब पीकर गाड़ी चलाने पर सजा का क्या प्रावधान है।

traffic police rights in India in hindi – शराब पीकर गाड़ी चलाने पर आपको Section – 185 में के अनुसार ( 10 हजार रूपए ) का फाइन भरना होता है।

बिना योग्यता के गाड़ी चलाने पर सजा का क्या प्रावधान है।

traffic police rights in India in hindi – आप बिना योग्यता के गाड़ी चलाते है। आप पर Section – 182 के अनुसार ( 10 हजार रूपए ) का चार्ज लिया जाता है।

ट्रैफिक विभाग के आदेश की अनदेखी करने पर क्या होता है।

traffic police rights in India in hindi – आप ट्रैफिक विभाग के आदेश नहीं मानने पर Section – 179 में ( 2000 रूपए ) का चार्ज लगता है।

प्रश्नः – गाड़ी तेज गति में चलाने पर किस धारा में चालान किया जाता है।

Answer – traffic police rights in India in hindi – तेज गति में गाड़ी चलाने पर Section – 182 के अनुसार वजन में हल्की गाड़ी का ( 1000 रूपए ) व मीडियम वाहन के लिए ( 2000 रूपए ) का चालान कटता है।

हेलमेट नहीं पहनने पर ( 1000 रूपए ) का चालान भरना होता है।

प्रश्नः – वकील जी , गाड़ी चलाने वाला बालिग न हो तो नियम क्या है।

Answer – traffic police rights in India in hindi – गाड़ी चलाने वाले की आयु कम है। और पकड़े जाने पर उनके अभिभावक को दोषी माना जाता है। व इसके लिए ( 25000 रूपए ) का चालान या 3 वर्ष की सजा का नियम है।

प्रश्नः – वकील साहब , एम्बुलैंस गाड़ी को मार्ग नहीं देने पर चालान कितने का है।

traffic police rights in India in hindi – एम्बुलेंस गाड़ी को जल्दी चिकित्सा संबन्धी सहायता के लिए प्रयोग में लिया जाता है। और रास्ता नहीं देने पर मरीज को परेशानी हो सकती है। इसलिय पहली दफा एम्बुलेंस को जगह नहीं देने पर Section – 194 ई के अनुसार ( 10000 रूपए ) का चालान वसूला जाता है। 

आप बिना इन्सोरैंस की गाड़ी चलाते है। तो आप पर Section – 196 के अनुसार ( 2000 रूपए ) का चालान की कार्यवाही की जाती है।