U.S (Dollar) में मजबूती आने से विदेशों से अपने देश में रुपये भेजने पर ज्यादा मिलेगा रिटर्न | Best Business News 2022
Like and Share
U.S (Dollar) में मजबूती आने से विदेशों से अपने देश में रुपये भेजने पर ज्यादा मिलेगा रिटर्न | Best Business News 2022
198 Views

Benefits TO Strong Dollar – भारतीय रुपये के कमजोर होने व डॉलर की मजबूती आने से देश में महंगाई बढ़ती है. BUT  क्या आप जानना चाहेंगे | डॉलर ( Dollar ) के मुकाबले रुपये में कमजोरी के हमें कुछ फायदे भी मिलते हैं .

सोमवार के दिन रुपये के मुकाबले Dollar में जबरदस्त तेजी हमें देखने को मिली है। इस समय एक डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर होकर 77.41 अंक तक जा लुढ़का. BUT डॉलर की मजबूती से देश के ( I.T ) सेक्टर्स को जबरदस्त Benefits पहुंचा है.

इस प्रकार विदेशी में जो भारतीय People रोजगार के लिए गए हुए हैं जब वह India में रूपए ट्रांसफर करते है। तो उन्हें यहां ज्यादा रिटर्न अर्थात रुपये बढ़कर मिलते है।

आइए एक बार नजर डालते है मजबूत डॉलर का किस तरह Economy का लाभ मिलता है। 

1. रूपए भेजने पर ज्यादा रिटर्न – यूरोप या फिर खाड़ी के देशों में बड़ी संख्या में भारतीय लोग काम करते हैं. और अमेरिका में बहुत बड़ी संख्या में Indians रहते हैं जो Dollar में कमाते हैं तथा अपनी कमाई India में भेजते हैं. विश्व में सबसे अधिक  Remittance पाने वाला भारत देश है.

अगर बात करें तो साल 2021 में India में Remittance के जरिए 87 अरब Dollar प्राप्त हुआ था. जो यह साल 2022 में बढ़कर 90 बिलियन होने का विशषज्ञों द्वारा अनुमान है. और 20 फीसदी से ज्यादा Remittance इंडिया में अमेरिका से आता है.

जब भारतीय लोग अपने देश Dollar के रुप में रुपये भेजते हैं तो इससे भारतीय विदेशी मुद्रा भंडार इससे बढ़ता है। और साथ ही इन रुपयों से Indian Government को अपने कल्याणकारी योजनाओं को चलाने के लिए अधिक धन प्राप्त होता है. और जो लोग यह Remittance भेजते हैं उन्हें अपने देश में डॉलर को अपने देश की करेंसी में एक्सचेंज अर्थात अदल -बदल करने पर अधिक रिटर्न मिलता है.


Read Me –

( Divorce )भारत में आपसी सहमति से तलाक कैसे लें | Best 2021


2. आईटी इंडस्ट्री का जलवा – Dollar में मजबूती का बड़ा लाभ देश के आईटी ( I.T ) सर्विसेज इंडस्ट्री को होता है. India  की दिग्गज आईटी Companeyes टीसीएस, व इंफोसिस, व विप्रो, व टेक महिंद्रा, और एचसीएल जैसेी कंपनियां की सबसे अधिक कमाई विदेशों में आईटी ( I.T ) सर्विसेज देने से प्राप्त होती है.

इन कंपनियों को डॉलर ( Dollar ) में भुगतान किया जाता है. और जब यह देसी आईटी ( I.T ) कंपनी डॉलर में हुई कमाई अपने देश भारत लेकर आते हैं तो यह रुपये में कमजोरी होने तथा डॉलर में मजबूती से उन्हें जबरदस्त लाभ मिलता है. और फिर  डॉलर की मजबूती से इन Companeyes की विदेशों में सर्विसेज देने से Income भी बढ़ जाती है.

3. निर्यातकों को कितना फायदा – Dollar में मजबूती का बड़ा लाभ एक्सपोटर्स को होता है. और निर्यातक जब कोई प्रोडक्ट दूसरे अन्य देशों में बेचते हैं तो उन्हें रूपए का भुगतान डॉलर करंसी के रुप में किया जाता है.

डॉलर की मजबूती का अर्थ होता है कि उन्हें अपने बेचे गए प्रोडक्ट के लिए अधिक कीमतें मिलेंगी. और वे लोग Dollar को देश के एक्सचेंज मार्केट में बेंचेंगे तो रुपये में आई गिरावट की वजह से उन्हें एक डॉलर के मुकाबले अधिक रुपये प्राप्त होंगे.

4. ज्यादा आयेंगे विदेशी ट्रैवलर्स – महंगे डॉलर ( Dollar ) के होने से विदेशों में घूमना भले ही कुछ महंगा हो जाये. BUT जो विदेशी टूरिस्ट भारत आना चाहते हैं उनके लिए यह राहत का समय है. उन्हें रुपये में आई कमजोरी के चलते अधिक सर्विसेज प्राप्त होगी . रुपये में आई गिरावट के चलते टूर पैकेज काफी सस्ते हो जायेंगे. और देश में सस्ते टूर पैकेज के होने से विदेशी सैलानी ज्यादा आयेंगे.

यह भी पढ़ें:
Wheat Price Hike: बड़ा झटका! अगले महीने से महंगा हो जाएगा आटा, बिस्किट और ब्रेड, जानें कितने बढ़ेंगे रेट्स?

Share Market में गिरावट हावी, सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में बंद, रिलायंस के शेयर्स सबसे ज्यादा फिसले