संपत्ति 99 years lease पर क्यों दी जाती हैं | best law 2022
Like and Share
संपत्ति 99 years lease पर क्यों दी जाती हैं | best law 2022
204 Views

संपत्ति 99 years lease पर क्यों दी जाती हैं | आपने यह शब्द बहुत बार सुना व देखा होगा और सोचा होगा की यह किस प्रकार का कानून हैं ! आज हम इसी विषय पर जानकारी प्राप्त करेंगे |

99 years lease – कई बार हमारे मन में यह प्रश्नः आता हैं की प्रॉपर्टी को बड़े बिल्डर लोग संपत्ति को 99 साल की लीज पर ही क्यों देते हैं इसके पीछे की क्या वजह हो सकती हैं और इस प्रकार के कानूनी रास्ते को चुनने से एक बिल्डर को या संपत्ति लेने वाले को क्या फायदा मिलता हैं क्या इससे ( Land Crime ) पर रोक लग सकती हैं यह जानने के लिए विस्तार से जानकारी लेते हैं

 New Delhi |  आपने अक्सर किसी को कहते हुए सुना होगा या फिर बोलते हुए कि हमने यह  प्रोपर्टी लीज पर 99 साल ( 99 years lease ) के लिए ली है। लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि यह  प्रोपर्टी आमतौर पर 99 साल के लिए ही लीज पर क्यों दी जाती है? क्या वजह की इस बारे में ज्यादातर लोगों को पता नहीं होगा। तो आज आइए हम आपको बताते हैं कि इसके पीछे क्या – क्या कारण है।

प्रॉपर्टीज को सहायता के लिए दो हिस्सों में बांटा गया है

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हाउसिंग या कमर्शियल प्रॉपर्टीज ( Property ) को दो हिस्सों में बांटा गया है। पहला यह की फ्रीहोल्ड प्रोपर्टी और दूसरा लीजहोल्ड प्रॉपर्टी। फ्रीहोल्ड प्रॉपर्टी एक सेल्फ-एक्पेनेटरी है, और जो अनिश्चित अवधि के लिए मालिक ( Owner ) को छोड़कर किसी भी प्राधिकरण की फ्री होल्ड है। और वहीं, लीजहोल्ड संपत्ति ( Property ) आमतौर पर निर्माण के समय से 99 साल ( 99 years lease ) के लिए लीज पर दी जाती है। और कुछ मामलों में लीजहोल्ड संपत्ति स्थायी पट्टे पर भी दी जाती है।

हालांकि आज हम बात करेंगे  लीजहोल्ड प्रॉपर्टी की जिसे 99 साल ( 99 years lease ) की समयसीमा के लिए तय किया जाता है। उदाहरण द्वारा  तौर पर आप एक अपार्टमेंट को ले सकते हैं। जिसे अक्सर 99 साल के पट्टे पर बेचा ( Sell ) जाता है। और 99 वर्ष की समाप्ति के बाद, स्वामित्व असली जमींदार के हाथ में वापस चला जाता है। और ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि ऐसा भी क्यों किया जाता है?


Read Me – सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी की रिलीज को मंजूरी दी; दत्तक पुत्र की याचिका खारिज की


किस कारण से 99 साल की होती है लीज

आपको बता दे  कि किसी रिहायशी इलाके का विकास प्राधिकरण बिल्डरों को जमीन के विकास का अधिकार ( Rights ) देता है और 99 वर्षों के लिए ( 99 years lease ) संपत्तियों को लीज पर देता है। और इसका मतलब है कि जो कोई भी  रिहायशी या कमर्शियल प्रॉपर्टी खरीदता है, उसका 99 वर्षों के लिए उस पर अधिकार ( Rights ) रहेगा। और इसके बाद जमीन के मालिक के पास अधिकार आ जाएगा। 


Read Me –

Business Startup क्यों ,कैसे शुरु करें, Best Skill Tips 2022


और लीज संपत्तियों के ग्राहकों को जमीन का किराया ( Rent ) मालिक को देना पड़ता है। हालांकि, अवधि या समय खत्म होने के बाद इन प्रॉपर्टीज का रिन्यू भी कराया जा सकता है। और किसी प्रोपर्टी को 99 साल के लीज ( 99 years lease ) पर इसलिए दिया जाता है, जिससे  भूमि के बार-बार उपयोग और उसके हस्तांतरण को रोका जा सके। आप इसे शुरुआती दिनों में इसे एक सुरक्षित समय अवधि के विकल्प के तौर पर देखा गया था, और जो लीज लाइफ को कवर करता है। वह साथ ही यह संपत्ति ( Property ) के मालिकाना हक को सुरक्षित रखने के लिए सही अवधि मानी गई।

99 years lease images 1

यह भी नीयम है। 

99 years lease – 99 साल के बाद आपको अगर लीजहोल्डर फिर से उस संपत्ति को अपने पास रखना चाहता है, तो आप इस स्थिती में उसे फिर से मूल जमींदार असली मालिक को जमीन का किराया देना होता है। और आप समय-समय पर मूल जमींदार को किराया ( Rent ) देकर इस लीज को 999 साल तक बढ़ा सकते हैं। हालांकि, एक और प्रावधान या Law है जिसमें यह कहा गया है कि यदि उस उक्त संपत्ति के कब्जे ने 100 साल पूरे कर लिए हैं, तो यह स्वयं  एक फ्रीहोल्ड ( Free Hold ) संपत्ति या संपत्ति में परिवर्तित हो जाती है।

संपत्ति को लीज पर मिलने के फायदे क्या है।

1 – मकान मालिक से हर साल एग्रीमेंट रेन्यू कराने के झजट से बचाव होता है। 

2 – मकान मालिक के हर साल किराया बढ़ाने व नए नियमों के लगाने और झगड़ो से छुटकारा मिलता है। 

3 – आपको अपने घर के लिए पर्याप्त धनराशि इकठ्ठा करने के लिए समय मिल जाता है। 

4 – 99 years lease पर प्रॉपर्टी लेने से अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा का प्रबन्ध कर सकते है। आदि